Posts

Kanpur : दबंगों ने दलित युवक के साथ की मारपीट पीड़ित ने पुलिस से लगाई गुहार।

Image
कानपुर-उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में भी दबंगों के हौसले बुलंद है। दलित को प्रताड़ित करने का ऐसा ही एक नया मामला प्रकाश में आया है नौबस्ता का रहने वाला सरवन तिलक नगर में एक कारोबारी के यहाँ ड्राइविंग का कार्य करता है। सरवन ने बताया कि मंगलवार को वो अपनी बाइक का चालान छुड़ाने कचेहरी गया था तभी उसे कचेहरी में स्वरूप नगर निवासी कमल ने रोक लिया जो उसके मालिक का बहनोई है और मौजूदा समय मे उसका परिवारिक विवाद भी चल रहा है। उसने पहले हाल-चाल पूछा फिर बोला अपने मालिक के यहाँ की कुछ सूचनाएं हमें भी दे दिया करो जिसके लिए तुम्हे खर्चा मिलता रहेगा। बक़ौल सरवन जब उसने इस तरह कार्य करने से इंकार किया तो कमल और उसके साथी आग बबूला हो गये और उसे जातिसूचक गालियाँ देते हुए जमकर पीटा जिससे उसके कपड़े फट गए और कई चोट भी आई है, आरोप ये भी की सरवन द्वारा पुलिस को सूचना देने का प्रयास करने पर दबंग उसका मोबाइल लूटकर धमकाते हुए फरार हो गये। पीड़ित दलित युवक द्वारा थाना कोतवाली में तहरीर देकर दबंगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है वही पुलिस ने जाँच के बाद कार्यवाही का आश्वासन देकर पीड़ित युवक टरका दिया उस

Kanpur मोहन स्टील के 3 निदेशकों की गिरफ्तारी पर लगी रोक...

Image
सुप्रीम कोर्ट ने 7820 करोड़ के बैंक घोटाले में मोहन स्टील के तीन निदेशकों को बड़ी राहत दी है. उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी गई है। सत्र और उच्च न्यायालय द्वारा उनकी अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद तीनों ने सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत दायर की थी। हालांकि कुर्की का आदेश पहले ही जारी किया जा चुका है। विभिन्न बैंकों से धोखाधड़ी के मामले में गंभीर मित्र जांच कार्यालय के उप निदेशक प्रशांत बाल्यान की ओर से 15 मार्च 2020 को कंपनी कोर्ट में 28 व्यक्तियों और 41 कंपनियों सहित कुल 69 आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी. . इसमें मोहन स्टील के निदेशक मोहन कृष्ण, गोपाल कृष्ण और श्री कृष्ण केजरीवाल भी आरोपी हैं।

दबंग भूमाफिया कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर कर रहा कब्जा,पुलिस नही कर रही कार्यवाही।

Image
यूपी में योगीराज के बाद भी भूमाफियाओं के हौसले बुलंद है ताजा मामला कानपुर आउटर के बिधनू थाना क्षेत्र का है दबंगों द्वारा सोसायटी के प्लाट को जबरन हड़पने का कुचक्र रचा गया है और पुलिस मुकदमा दर्ज होने के बावजूद दबंग भूमाफियाओं पर कार्यवाही नही कर रही है जिससे उनके हौसले बुलंद है और वो सोसाइटी के अध्यक्ष और सचिव को फर्जी मुकदमों में फ़साने की धमकी दे रहे है। शुक्रवार को अशोक नगर स्थित कानपुर जर्नलिस्ट क्लब में पत्रकारों से कृष्णा सहकारी आवास समिति लिमिटेड के सचिव ह्रदय नारायण पाण्डेय ने बताया कि उनकी 1976 की रजिस्टर्ड सोसायटी है। सोसायटी द्वारा 31-03-1984 को आराजी संख्या 313 मि गंगापुर एवम अन्य कई जमीनों की रजिस्ट्री चन्द्रिका प्रसाद शुक्ला के नाम कराया था। जिसके बाद जानकारी मिली की सोसायटी की ज़मीन को फर्जी तरीके से कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर चन्द्रिका प्रसाद शुक्ला द्वारा सुरेंद्र कुमार द्विवेदी और सुशील कुमार द्विवेदी के साथ साठगाँठ कर बेचा गया है जिसपर सोसायटी के सचिव द्वारा चन्द्रिका प्रसाद शुक्ला द्वारा सुरेंद्र कुमार द्विवेदी और सुशील कुमार द्विवेदी के खिलाफ बिधनू थाने

कानपुर :-काली फिल्म के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद,निर्माता, निर्देशक के खिलाफ अधिवक्ताओं ने की शिकायत।

Image
Leena manimekalai: डॉक्यूमेंट्री फिल्म काली को लेकर विवाद गहरा होता जा रहा है. इस फिल्म के मेकर पर धार्मिक भावनाएं आहत करने और जाति के नाम पर भड़काने का आरोप लगा है। Documentary Film Kaali: फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलाई (Leena Manimekalai) के खिलाफ देश भर में आक्रोश बढ़ता जा रहा है दिल्ली के बाद यूपी के लखनऊ और गोण्डा में केस दर्ज हुए है वही कानपुर में आक्रोशित अधिवक्ताओं ने धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाकर है। अपर पुलिस आयुक्त आनन्द कुलकर्णी से मिलकर मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया है। इस फिल्म को लेकर लगातार विवाद बढ़ रहा है। वरिष्ठ अधिवक्ता विनय कुमार मिश्रा ने कहा कि करोड़ों हिंदुओं की आराध्य मां काली का अभिनय कर रही ऐक्टर्स लीना मनिमेकलाई को फिल्म के पोस्टर में सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है। जो कि करोड़ों हिंदुओं की धर्मिक भवनाओं को आहत करने वाला है तथा समाज मे नशे का व्यापार बढ़ाने के हिन्दू देवी देवताओं का उपयोग किया जा रहा है इतना ही नहीं इसके अलावा उनके हाथ में एलजीबीटी समुदाय का सतरंगा झंडा भी दिखाया गया है फ़िल्म का पोस्टर शोश

कानपुर हिंसा मामले में पुलिस को बड़ी सफलता, एक महीने से फरार क्राउड फंडिंग का आरोपी हाजी वसी लखनऊ से गिरफ्तार

Image
कानपुर-उत्तर प्रदेश के कानपुर में 3 जून को जुमे की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा को लेकर बड़ी खबर आई है पुलिस ने इस मामले में क्राउड फंडिंग के आरोपी बिल्डर हाजी वसी को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है।  कानपुर कमिश्नरेट के सहायक पुलिस आयुक्त आनन्द प्रकाश तिवारी ने बयान जारी कर वसी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उपद्रव के मास्टर माइंड हयात जफर हाशमी को गिरफतार करने के बाद पुलिस ने उसके सहयोगियों पर शिकंजा कसा, कानपुर में तीन जून को जुमे की नमाज के बाद नई सड़क पर उपद्रव के मास्टर माइंड हयात के फाइनेंसर हाजी वसी को क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। हाजी वसी बड़ा बिल्डर है और हयात की गतिविधियों में धन लगाता है। कानपुर में तीन जून को नई सड़क पर उपद्रव के मास्टरमाइंड हयात के खजांची बिल्डर हाजी वसी को कानपुर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच की टीम वसी को कानपुर लाकर पूछताछ कर रही है। तीन जून को कानपुर की नई सड़क में हुए उपद्रव के मास्टरमाइंड एमएमए जौहर फैन्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हयात जफर हासमी के खजांची बिल्ड

कानपुर हिंसा मामले में पुलिस को बड़ी सफलता, एक महीने से फरार क्राउड फंडिंग का आरोपी हाजी वसी लखनऊ से गिरफ्तार..

Image
कानपुर-उत्तर प्रदेश के कानपुर में 3 जून को जुमे की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा को लेकर बड़ी खबर आई है पुलिस ने इस मामले में क्राउड फंडिंग के आरोपी बिल्डर हाजी वसी को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है।  कानपुर कमिश्नरेट के सहायक पुलिस आयुक्त आनन्द प्रकाश तिवारी ने बयान जारी कर वसी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उपद्रव के मास्टर माइंड हयात जफर हाशमी को गिरफतार करने के बाद पुलिस ने उसके सहयोगियों पर शिकंजा कसा, कानपुर में तीन जून को जुमे की नमाज के बाद नई सड़क पर उपद्रव के मास्टर माइंड हयात के फाइनेंसर हाजी वसी को क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। हाजी वसी बड़ा बिल्डर है और हयात की गतिविधियों में धन लगाता है। कानपुर में तीन जून को नई सड़क पर उपद्रव के मास्टरमाइंड हयात के खजांची बिल्डर हाजी वसी को कानपुर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच की टीम वसी को कानपुर लाकर पूछताछ कर रही है। तीन जून को कानपुर की नई सड़क में हुए उपद्रव के मास्टरमाइंड एमएमए जौहर फैन्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हयात जफर हासमी के खजांची बिल्ड

सूफी खानकाह के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूफी कौसर हसन मजीदी को मिली सुरक्षा,दो सशस्त्र पुलिसकर्मी घर पर तैनात।

Image
कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में सूफी खानकाह एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पाकिस्तान के नंबरों से जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आने के बाद सूफी कौसर हसन मजीदी के घर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दो सशस्त्र पुलिसकर्मी इनके घर के बाहर तैनात किए गए हैं। अभी तक पीआरवी को यहां पर सुरक्षा के लिए तैनात किया गया था। धमकी मिलने के बाद अध्यक्ष ने पुलिस से मामले की शिकायत कर सुरक्षा की मांग की थी। बता दें कि दावते इस्लाम और पाकिस्तान के आतंकी संगठनों को लेकर सूफी कौसर हमेशा सवाल उठाते रहे हैं। विज्ञापन जानकारी के अनुसार, कानपुर के जूही परमपुरवा में सूफी खानकाह एसोसिएशन के अध्यक्ष कौसर हसन मजीदी ने दावते इस्लाम संस्था और पाकिस्तान के आतंकी संगठनों पर कई गंभीर सवाल उठाए थे. इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी नंबरों से कॉल कर जान से मारने की धमकी दी गई. धमकी मिलने के बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की और सुरक्षा की मांग की. पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने धमकी मिलने की FIR दर्ज कर उन्हें सुरक्षा दी है। पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने कहा कि सूफी कौसर को पाकिस्तान से जान से मारन

30 मई हिंदी पत्रकारिता दिवस : स्वतंत्र एवं निष्पक्ष मीडिया लोकतंत्र की आत्मा-अभय त्रिपाठी

Image
कानपुर। हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर गुरुवार को अशोक नगर स्थित कानपुर जर्नलिस्ट क्लब में राष्ट्र निर्माण में मीडिया की भूमिका विषय पर एक परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जर्नलिस्ट क्लब के महामंत्री अभय त्रिपाठी ने की सर्वप्रथम अमर शहीद गणेश शंकर विद्यार्थी जी के चित्र का माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री त्रिपाठी ने कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष मीडिया लोकतंत्र की एक आत्मा है। हिन्दी पत्रकारिता के 196 वर्ष हो गए। इतनी लंबी अवधि एवं सफर में हिन्दी पत्रकारिता काफी विकसित एवं आधुनिक हो गई है, मीडिया लोकतंत्र का रक्षा कवच है। यह समाज का थर्मामीटर है। यह प्रतिकूल समाज वातावरण और परिस्थितियों के भार को जानने का बैरोमीटर है।  वरिष्ठ पत्रकार कैलाश अग्रवाल ने कहा कि मीडिया राजनीतिक व सामाजिक भूकंप के क्रमिक कंपन को जान कर लोगों तक पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र के निर्माण में मीडिया की भूमिका को भुलाया नहीं जा सकता। देश और समाज के प्रति उनकी जवाबदेही काफी बढ़ी है। वरिष्ठ पत्रकार कुमार त्रिपाठी ने कहा म

बलिया के पत्रकारों पर जुल्म के विरोध में लामबंद हुआ कानपुर जर्नलिस्ट क्लब

Image
कानपुर : यूपी के बलिया में नकल कराने और पेपर लीक मामले में तीन पत्रकारों को खबर लिखने के लिए जेल भेजा गया है. इस घटना के बाद बलिया ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के पत्रकारों और जनसरोकारी लोगों में आक्रोश है। अब इसी क्रम में पत्रकारीय हितों के लिए संघर्ष करने वाले संगठन ‘कानपुर जर्नलिस्ट क्लब’ ने प्रकरण को संज्ञान में लिया और एक आपात बैठक अशोक नगर स्थित हिन्दी पत्रकार भवन में की.  इस बैठक में बलिया के पत्रकारों के साथ हुए दुर्भावनापूर्ण उत्पीड़न और जेल भेजने की घटना की निन्दा करते हुए इसे लोकतंत्र के लिए ख़तरा बताया। बैठक में वरिष्ठ पत्रकार और जर्नलिस्ट क्लब के अध्यक्ष ओम बाबू मिश्रा ने अपने विचार रखते हुए कहा कि नकल माफिया और प्रशासन की कलई खोलने वाले पत्रकारों को इनाम देने की बजाय उन्हें जेल भेजना, लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आज़ादी को खत्म करने का कुत्सित प्रयास है. पत्रकारों से कोई समाचार का स्रोत बताने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है. वह चाहे न्यायालय ही क्यों न हो. समाचार का स्रोत न बताने पर जिन तीन पत्रकारों अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह और मनोज गुप्ता को जेल भेजा गया, वह सच को दबा

Kanpur : अपर्णा दुबे बनी युवा अखिल भारतीय सर्व ब्राम्हण महासभा की प्रदेश अध्यक्ष।

Image
कानपुर- शुक्रवार को सिविल लाइंस स्थिति होटल पैराडाइज़ में अखिल भारतीय सर्वब्राह्मण महासभा की विशेष संगठनात्मक बैठक सम्पन्न हुई। जिसमें सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता एवं संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं वीरेन्द्र दुबे ने आगामी कार्यक्रमों को ध्यान में रखते हुए, विशेषकर युवाओं की समाज में भूमिका पर जोर देते हुए सुश्री अपर्णा दुबे को सर्वसम्मति से युवा अखिल भारतीय सर्व ब्राहाम्ण महासभा का प्रदेश अध्यक्ष पद पर मनोनीत किया। सुश्री अपर्णा दुबे ने आज के समय में समाज में ब्राह्मण युवाओं के उत्कर्ष हेतु विभिन्न उद्देश्यों पर विमर्श करते हुए कहा,कि आज समय है कि हम अपने गौरवशाली अतीत को स्मरण करते हुए आपस में संगठित होकर भारत के उत्थान   कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंजू त्रिपाठी महिला प्रदेश अध्यक्ष,  राजेन्द्र द्विवेदी बल्लू, अभिनव शर्मा, हरिओम दुबे, ओमेन्द्र अवस्थी, अविरल मिश्रा, शिवम पाण्डेय, अनुज शुक्ला आदि लोग मौजूद रहे।