कानपुर : वायरल ऑडियो मामले में पुलिस को दी गयी तहरीर, निदेशक बोले संस्थान की छवि धूमिल करने की हो रही साजिश।

कानपुर : कानपुर के लक्ष्मीपत सिंहानिया हृदय रोग संस्थान के डायरेक्टर प्रो. विनय कृष्ण और ठेकेदार के बीच लेनदेन "ऑडियो वायरल" का मामला अब पुलिस तक पहुँच गया है। कॉर्डियोलॉजी के निदेशक विनय कृष्णा ने वायरल ऑडियो के मामले में स्वरूप नगर थाने में एफआईआर दर्ज करवाने के लिए तहरीर दी है।

कॉर्डियोलॉजी निदेशक विनय कृष्णा ने ऑडियो पिछले साल का है। व्यक्तिगत लेनदेन है। संस्थान और मेरी छवि धूमिल करने की साजिश है। उन्होंने बताया की मंगलवार को मीडिया व सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी हुई की कुछ लोगों द्वारा मनगढ़ंत आरोप लगाकर एक आडियो वायरल किया जा रहा है जिसमे कॉर्डियोलॉजी में आउट सोर्सिंग सर्विस देने वाला ठेकेदार वी के मिश्रा के बीच व्यक्तिगत लेनदेन की वार्ता हो रही है जिसे सोशल मीडिया में साजिशन निदेशक, हृदय रोग संस्थान की छवि धूमिल करने के लिए तथा अवैध वसूली के लिए अनर्गल आरोप लगाकर  निदेशक तथा हृदय रोग संस्थान की छवि को काफी छति पहुँचाई गयी। बल्कि वायरल ऑडियो लगभग एक साल पुराना है कोरोना काल मे ठेकेदार को आर्थिक समस्या होने के कारण उसे अपने परिचितों से साढ़े सात लाख रुपए दिलवाए थे जिसमें ढाई लाख ठेकेदार ने वापस कर दिए थे पांच लाख और लेना था जिसके संबंध में वार्ता हुई थी जिसे गलत तरह से प्रचारित किया गया।

वही ठेकेदार संतोष कुमार मिश्रा ने वीडियो जारी कर कहा कि कोरोना काल में प्रोफेसर से 7.5 लाख रुपए उधार लिया था। वर्कर को पेमेंट करने के लिए। हमने 2.5 लाख पहले दिए, अभी 5 लाख मांगे गए। वो भी वापस किए है। पहले वाले भुगतान में 4 नोट नकली निकले होंगे।
अब हमारा प्रोफेसर से चवन्नी का भी लेना-देना नहीं है। हमारा मोबाइल गिर गया था। हमे बदनाम करने के लिए ये ऑडियो वायरल किया जा रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

कानपुर ज्योति हत्याकांड :- ज्योति के 6 हत्यारों को उम्रकैद की सजा, ज्योति के पिता बोले न्याय की जीत।

आरोग्यधाम के सदस्यों ने शहरवासियों से इको फ्रेंडली दिवाली मनाने के साथ पर्यावरण को सुरक्षित रखने का किया आवाहन