सूफी खानकाह के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूफी कौसर हसन मजीदी को मिली सुरक्षा,दो सशस्त्र पुलिसकर्मी घर पर तैनात।

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में सूफी खानकाह एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पाकिस्तान के नंबरों से जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आने के बाद सूफी कौसर हसन मजीदी के घर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दो सशस्त्र पुलिसकर्मी इनके घर के बाहर तैनात किए गए हैं। अभी तक पीआरवी को यहां पर सुरक्षा के लिए तैनात किया गया था। धमकी मिलने के बाद अध्यक्ष ने पुलिस से मामले की शिकायत कर सुरक्षा की मांग की थी। बता दें कि दावते इस्लाम और पाकिस्तान के आतंकी संगठनों को लेकर सूफी कौसर हमेशा सवाल उठाते रहे हैं।
विज्ञापन

जानकारी के अनुसार, कानपुर के जूही परमपुरवा में सूफी खानकाह एसोसिएशन के अध्यक्ष कौसर हसन मजीदी ने दावते इस्लाम संस्था और पाकिस्तान के आतंकी संगठनों पर कई गंभीर सवाल उठाए थे. इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी नंबरों से कॉल कर जान से मारने की धमकी दी गई. धमकी मिलने के बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की और सुरक्षा की मांग की. पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने धमकी मिलने की FIR दर्ज कर उन्हें सुरक्षा दी है। पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने कहा कि सूफी कौसर को पाकिस्तान से जान से मारने की धमकी मिली थी, उन नंबरों को जांच के लिए साइबर सेल को दिया गया है. उन्होंने सुरक्षा मांगी थी और उनके घर पर सुरक्षा तैनात कर दी गयी है।
विज्ञापन

सूफी कौसर मजीदी पिछले एक साल से कानपुर में दावते इस्लाम के विरोध में मुहिम चला रहे हैं. उन्होंने दावते इस्लाम के मुस्लिम क्षेत्रों में चंदे के लिए लगाए गए डिब्बों का विरोध किया था. इसके बाद उनको धमकी मिली थी. पहले इस धमकी को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई गई, लेकिन जब से उदयपुर की घटना के आरोपी के दावते इस्लाम से जुड़े होने की बात सामने आई है, तब से कौसर हसन मजीदी घबराए हुए हैं।

Comments

Popular posts from this blog

कानपुर ज्योति हत्याकांड :- ज्योति के 6 हत्यारों को उम्रकैद की सजा, ज्योति के पिता बोले न्याय की जीत।

ज्योति हत्याकांड में आरोपियों को दोषी करार होने के बाद शंकर नागदेव बोले न्याय के प्रति नतमस्तक हूँ।

कान्यकुब्ज ब्राम्हण समाज का सामूहिक वैवाहिक समारोह एवं यज्ञोपवीत कार्यक्रम 27 फरवरी को।