Uptvlive : सीसामऊ विधानसभा- बीजेपी-कॉंग्रेस ने की घेराबंदी, सपा की राह नहीं आसान।

कानपुर: यूपी विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में होने वाली वोटिंग के लिए लगभग सभी तैयारियों पूरी हो चुकी हैं। राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशियों के नामांकन प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है। यदि कानपुर की बात की जाए तो, सीसामऊ विधानसभा में पिछले 2 बार से सपा का विजय पताका लहरा रही है लेकिन इस बार समीकरण बिल्कुल अलग है सीसामऊ विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय मुकाबला दिखाई दे रहा है बीजेपी और कांग्रेस ने सीसामऊ सीट पर घेराबंदी की है। इस सीट पर एसपी की राह आसान नहीं हैं।

कानपुर की सीसामऊ विधानसभा सीट पर होने वाला विधानसभा चुनाव बहुत ही दिलचस्प होने वाला है। समाजवादी पार्टी से विधायक इरफान सोलंकी तीन बार के विधायक हैं। एसपी विधायक को घेरने के लिए बीजपी और कांग्रेस ने अपने तुरूप के इक्के चुनावी मैदान में उतारे हैं।

विधानसभा चुनाव 2017 के आकड़े
विधानसभा चुनाव 2017 में सीसामऊ विधानसभा सीट एसपी के इरफान सोलंकी ने जीत दर्ज की थी। इरफान सोलंकी 2007 में आर्यनगर से और 2012, 2017 में सीसामऊ सीट से जीत दर्ज की थी। विधानसभा चुनाव 2017 में एसपी के इरफान सोलंकी ने बीजेपी के सुरेश अवस्थी को 5826 वोटों से हराया था। एसपी के इरफान सोलंकी को 73030 वोट मिले थे। वहीं बीजेपी के सुरेश अवस्थी ने 67204 वोट हासिल किए थे।

पिछले चुनाव में एसपी और कांग्रेस का गठबंधन हुआ था। जिसका फायदा इरफान सोलंकी को मिला था। एसपी विधायक इरफान सोलंकी के पिता हाजी मुश्ताक सोलंकी आर्यनगर सीट से लगातार विधायक रह चुके हैं। हाजी मुश्ताक सोलंकी एसपी सरंक्षक मुलायम सिंह के करीबी थे।

बीजेपी ने सलिल विश्नोई को उतारा
बीजेपी ने एसपी विधायक इरफान सोलंकी को घेरने के लिए अपने सबसे मजबूत प्रत्याशी सलिल विश्नोई को उतारा है। सलिल विश्नोई वर्तमान में एमएलसी हैं, और आर्यनगर विधानसभा सीट से विधायक भी रह चुके हैं। बीजेपी प्रत्याशी एसपी विधायक को कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

कांग्रेस ने मुस्लिम प्रत्याशी पर लगाया दांव
कांग्रेस ने सीसामऊ सीट से हाजी सुहेल अहमद को चुनावी मैदान में उतारा है। हाजी सुहेल अहमद कुछ ही दिनों पहले अपने समर्थकों के साथ एसपी का साथ छोड़कर कांग्रेस में आए हैं। हाजी सुहेल तीन बार पार्षद भी रह चुके हैं। सीसामऊ सीट पर हाजी सुहेल का जबरर्दस्त पकड़ है। कांग्रेस ने हाजी सुहेल अहमद को जब प्रत्याशी बनाया था, तो एसपी के खेमें में हड़कंप मच गया था। हाजी सुहेल अहमद के पास मुस्लिम वोटरों का बड़ा जनाधार है। हाजी सुहेल एसपी विधायक की मुस्किलें बढ़ा सकती हैं।

सीसामऊ सीट का जातिगत आकड़ा
सीसामऊ विधानसभा सीट से एसपी के इरफान सोलंकी विधायक हैं। इस सीट पर मुस्लिम वोटरों की संख्या 84 हजार के करीब है। वही हिन्दू वोटरों की संख्या 1 लाख 33 हजार है जिसमे अनुसूचित जाति के वोटरों की संख्या 72 हजार है। ब्राह्मण वोटरों की संख्या 32 हजार है। वैश्य वोटरों की संख्या 12.50 हजार है। पंजाबी-सिंधी वोटरों की संख्या 16 हजार है

राजनीतिक पृष्ठभूमि

सीसामऊ विधानसभा सीट के चुनावी अतीत की बात करें तो ये सीट साल 1974 के विधानसभा चुनाव से अस्तित्व में है. ये सीट आरक्षित हुआ करती थी. इस विधानसभा सीट से 1974 में कांग्रेस के शिव लाल, 1977 में जनता पार्टी के मोती राम, 1980 और 1985 में कांग्रेस के कमला दरियाबादी, 1989 में जनता दल के शिव कुमार बेरिया, 1991, 1993 और 1996 में लगातार तीन दफे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राकेश सोनकर विधायक निर्वाचित हुए 2002 और 2007 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के संजीव दरियाबादी विधानसभा पहुंचे. 2008 के परिसीमन में कानपुर नगर जिले की ये सीट सामान्य हो गई. इस सीट के सामान्य होने के बाद साल 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) के टिकट पर हाजी इरफान सोलंकी विधायक निर्वाचित हुए।

Comments

Popular posts from this blog

कानपुर : कब्जा रोकने पर दबंगो ने महिला के कपड़े फाड़े, पुलिस पर दबंग भूमाफियाओं से मिलीभगत के आरोप।

कानपुर :-काली फिल्म के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद,निर्माता, निर्देशक के खिलाफ अधिवक्ताओं ने की शिकायत।

सूफी खानकाह के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूफी कौसर हसन मजीदी को मिली सुरक्षा,दो सशस्त्र पुलिसकर्मी घर पर तैनात।