DCP विक्रांत वीर के मैसेज से पुलिस विभाग में हड़कंप, पूर्व IPS ने योगी सरकार पर लगाए आरोप

 



वाराणसी. उत्तर प्रदेश में डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस के एक व्हाट्सएप्प मैसेज ने पुलिस महकमे में हडकंप मचा दिया. सोमवार देर रात वाराणसी के वरुणा जोन के डीसीपी विक्रांत वीर ने अपने निजी नंबर से पुलिस विभाग से जुड़े एक व्हाट्सएप्प ग्रुप में पुलिस अधिकारीयों के ट्रांसफर पोस्टिंग को लेकर मैसेज फॉरवर्ड किये. मैसेज ग्रुप में फॉरवर्ड होते ही महकमे में हडकंप मच गया. जिसके बाद डीसीपी विक्रांत वीर ने जल्दबाजी में कुछ मैसेज भी डिलीट किये. लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी. डीसीपी के मैसेज कई ग्रुपों में जमकर वायरल होने लगे. डीसीपी ने मैसेज वायरल होने पर सफाई देते हुए कहा की ग्रुप में मैसेज बेटी द्वारा धोखे से किया गया

डीसीपी विक्रांत वीर ने ग्रुप में लगातार पांच मैसेज भेजे. मैसेज वायरल होने पर उन्होंने सफाई देते हुए कहा की मेरे नंबर से बेटी ने गलती से मैसेज फॉरवर्ड कर दिए. बिटिया द्वारा गलती से भेजे गए मैसेज पूरी तरह से असत्य है. मेरे द्वारा इस मैसेजेज का पूरी तरह खंडन किया जाता है. जिनका सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है. इसे सिर्फ बिटिया द्वारा गलती से गई एक भूल समझा जाए. थोड़ी देर बाद उसी ग्रुप में डीसीपी ने दोबारा मैसेज करते हुए कहा है की किसी शरारती तत्व ने मेरे मोबाइल पर ये मैसेज भेजे थे. मेरी बेटी ने गलती से ये मैसेज फॉरवर्ड कर दिए.

विज्ञापन

डीसीपी के मैसेजेज वायरल होने के बाद पूर्व आइपीएस अमिताभ ठाकुर ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने योगी सरकार पर ट्रांसफर-पोस्टिंग को लेकर कई गंभीर आरोप लगाये हैं. आपको बता दे की यूपी की योगी सरकार ने पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को इसी साल मार्च महीने में सेवानिवृत्ति दी थी. जिसके बाद उन्होंने अपने घर के बाहर जबरिया रिटायर आईपीएस लिखवा लिया था

Comments

Popular posts from this blog

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

कानपुर पुलिस ने दो कुख्यात शूटरों को मुठभेड़ में गोली मारकर किया गिरफ्तार।

Make In India: योगी सरकार के मंत्रियों ने लॉन्च किया, यूपी का पहला Redmil माइक्रो एटीएम।