Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

-ऑनलाइन माध्यम को बनाया कामयाबी का हथियार...
-देखते ही देखते मजबूरी बन गई मजबूती...

कानपुर के दो युवाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस सपने को साकार कर दिया, जिसमें उन्होंने कोरोना काल में "आपदा को अवसर" में बदलने का आग्रह देशवासियों से किया था, कानपुर के दो युवाओं ने पीएम के इसी स्लोगन को अपने बिजनेस का मूलमंत्र मान लिया और आपदा को अवसर में बदल के दिखा दिया...संक्रमण और सोशल डिस्टेंसिंग के दौर में जहां आर्थिक मोर्चे पर चुनौतियां बढ़ी पड़ी थी, वहीं इन्होंने अपना Redmil Business Mall के नाम से देश का सबसे बड़ा बी2बी फिनटेक प्लेटफॉर्म बनाकर पूरे देश के 17 राज्यों में 70 हजार से अधिक युवाओं को रोजगार दे दिया।
कानपुर के रायपुरवा इलाके के एल्डिको क्लब में रेडमिल बिजनेस ऐप के ऑफिस में सैकड़ों युवक और युवतियां काम कर रहे हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी के इन सबको को ये जॉब उन्हीं 6 महीनों में मिली है, जिस समय पूरे देश में बड़ी बड़ी कम्पनियां छटनी कर रही थी.  मौजूदा समय में रेडमिल बिजनेस ऐप में 70 हजार युवा पूरे देश में कंपनी के एजेंट के रूप में रोजगार पाकर खुशी से झूम रहे है।

कोरोना काल में "आपदा को अवसर में बदला"

एक गिलास में थोड़ा पानी है। उसे देखने का नजरिया दो होगा। कोई कहेगा आधा गिलास पानी है, कोई कहेगा आधा गिलास खाली है। इसे और भी विस्तृत रूप में गौर करें तो जिसका नजरिया नकारात्मक होगा वह कहेगा आधा गिलास खाली है और जिसका नजरिया सकारात्मक होगा वह कहेगा आधा गिलास पानी है। ऐसी ही बातें दोनों युवा उद्यमियों की ओर से उभर कर सामने आईं रेडमील बिजेनस ऐप के सीएमडी आशीष पालीवाल और डायरेक्टर सागर राज सिंघल ने रेडमिल ऐप बनाकर देश के युवाओं को रोजगार देकर एक नई पहल स्थापित की, इनका कहना है कि हम अपनी जॉब छोड़ चुके थे, तभी प्रधानमंत्री मोदी के 'आपदा में अवसर' स्लोगन से प्रेरणा लेकर हमने सोचा क्यों न कोई ऐसा ऐप जो लोगो को घर बैठे ही रोजगार उपलब्ध करा दे। इसी दौरान हमने ये ऐप बना डाला जिसमें पहले तो कुछ ही हजार लोग जुड़े, बाद में धीरे धीरे आज 17 राज्यों के 70 हजार से अधिक लोग इस ऐप से अपना रोजगार कर रहे हैं. इन्होंने बताया कि हमने इसमें किसी भी चीनी कंपनी का सहयोग नहीं लिया है. साथ ही अपने ऐप में किसी चीनी कम्पनी को व्यापार करने की अनुमति नहीं दी है।

रेडमील समूह के आशीष पालीवाल ने बताया कि यह फिनटेक प्लेटफॉर्म एक मोबाइल एप्लिकेशन है जो भारत का सबसे बड़ा बी 2 बी सेवा प्रदाता फिनटेक एप्लीकेशन है।  इस एप्लिकेशन में 20+ क्षेत्रों के 125+ ब्रांड शामिल हैं। कोई भी इस एप्लिकेशन को डाउनलोड करके Redmil समूह का भागीदार बन सकता है और पहले दिन से ही कमाई शुरू कर सकता है।  यह एप्लिकेशन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस द्वारा संचालित है और कोई भी इस ऐप का उपयोग करके पैन इंडिया काम कर सकता है। कुछ ही महीनों में 70,000 से अधिक लोगों ने ऐप डाउनलोड किया है और रेडमिल समूह का हिस्सा बन गए हैं। आज देश की हर बड़ी कंपनी चाहे रिलायंस हो या बड़ी बैंके सब हमारी एप्प की भागीदार बनी हैं, देश के किसी भी कोने में जब कोई हमारे ऐप से जुड़ता है, तो पहले हम उसकी केवाईसी लेकर NPCI के लिए भेजते हैं। जहां से मंजूरी मिलने के बाद ही हम उसे अपना एजेंट बनाते है। हम इसमें रिजर्व बैंक के सारे नियम फॉलो करते हैं. इसके बाद उनको बिज़नेस करने की ट्रेनिंग देते हैं। लोग इस ऐप के सहारे अपना रोजगार कर रहे हैं  जिन बड़ी कंपनियों की वो सुविधा अपने लोगों देते हैं। उसका भी कमीशन उनको घर बैठे मिलता रहता है.

सागर राज सिंघल (डायरेक्टर रेडमील) ने हमें बताया कि इस एप्लिकेशन में प्रदान की गई सेवाओं को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि कस्बों और गांवों में रहने वाले लोग भी इस ऐप का उपयोग कर सकते हैं और पैसे कमा सकते हैं। और यही नही एप्लिकेशन को बेहतर ढंग से समझने के लिए कंपनी ने एक ऑनलाइन अकादमी भी बनाई है जो बिल्कुल मुफ्त है। इस एप्लिकेशन के माध्यम से कोई भी व्यक्ति लोन, म्युचुअल फंड, इंश्योरेंस, गोल्ड, एफडी, फास्टैग, AEPS, मनी ट्रांसफर, CA सर्विसेज, कॉपीराइट ट्रेडमार्क, आईएसओ सर्टिफिकेशन, डिजिटल मार्केटिंग, मोबाइल रिचार्ज, ट्रैवल इंडस्ट्री, लाइट बिल, वाटर बिल, etc में काम कर सकता है।
कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों को मिला रोजगार

रेडमिल में जॉब करने वाली अनुभूति श्रीवास्तव ने बताया कि मेरा कोरोना के चलते लखनऊ में जॉब छूट गया था. ऐसे में उसी दौर में रेडमिल के बारे मुझे पता चला. यहां मैंने कांटेक्ट किया, जॉब मिला ये मेरे लिए बहुत अच्छा हुआ. घर पर रह कर जॉब भी कर रही हूं. ये बहुत अच्छा हुआ. वहीं पलक शुक्ला ने बताया कि मेरी गुड़गांव में जॉब छूट गई थी, तभी इस ऐप के बारे में जानकारी हुई. मैंने रेडमिल एप डाऊनलोड किया. बड़े मुश्किल दौर में मुझे जॉब मिली।

गुड़गांव, दिल्ली, बैगलोर, लखनऊ, मुंबई जैसे शहरों के  तीन सौ युवा रेडमिल में जॉब कर रहे है ये लोग देश भर में फैले अपने 70 हजार एजेंटो को गाइड करके रोजगार की चेन आगे बढ़ा रहे है।

Comments

Popular posts from this blog

#Kanpur - ऑनलाइन सट्टा किंग "सोनू सरदार" को कानपुर पुलिस ने जयपुर से किया अरेस्ट

#Kanpur :-ट्यूशन टीचर से रेप का मामला- DIG के निर्देश के बाद,FIR दर्ज आरोपी अरेस्ट