स्कूल फीस के लिए सीएम से मिलने जा रहे अभि‌भावकों को जाजमऊ में रोका, चौकी में बिठाया


 


कानपुर, स्कूलों में बढ़ी फीस को लेकर अभिभावकों को लगातार परेशान किया जा रहा था। लॉकडाउन में कइयों की नौकरी छूट जाने के बाद स्कूल फीस का अतिरक्त बोझ पड़ने से अभिभावक भी बच्चों के भविष्य को लेकर चिंता में हैं। इसपर सीएम से समस्या का निदान मांगने के लिए सोमवार को अभिभावक पैदल लखनऊ के लिए निकले तो पुलिस ने जाजमऊ में रोक लिया और चौकी में ले जाकर बिठा दिया। अभिभावकों के समर्थन में भीड़ जुट गई और अफसरों को जानकारी दी गई।


 


स्कूल की बढ़ी फीस से परेशान होकर अभिभावकों ने सोमवार को सीएम से मुलाकात की योजना बनाई थी। सुबह अभिभावक एकत्र हुए और पैदल लखनऊ के लिए रवाना हुई। जाजमऊ पुल के पास पहुंचे तो पहले से मौजूद पुलिस व प्रशासन के अफसरों ने अभिभावकों को रोक लिया। अभिभावकों ने नाराजगी भी जताई तो अफसर उन्हें जाजमऊ चौकी लेकर चले गए। सूचना पर चौकी पर अभिभावकों की भीड़ इकट्ठा हो गई। अभिभावक लखनऊ जाने की मांग पर अड़े थे, वहीं पुलिस और प्रशासन के अफसर लगातार उनसे न जाने की बात कहते रहे।


 


चौकी में काफी देर तक अभिभावकों व पुलिस अफसरों के बीच बहस भी हुई। दोस्त सेवा संस्थान के अध्यक्ष रवि शुक्ला ने बताया कि अभिभावक मुख्यमंत्री से अपनी बात कहने के लिए जा रहे थे। हालांकि पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने उन्हें जाने नहीं दिया। स्कूल संचालकों को निर्देश दिए हैं, कि वह लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों के ऊपर फीस का दबाव न बनाएं। हालांकि संचालक इससे बेपरवाह होकर छात्रों के नाम तक काट रहे हैं। उन्होंने कहा अब अभिभावक अपनी बात पत्र के माध्यम से सीएम तक पहुंचाएंगे। यहां पर उप्र अभिभावक संघ परिवार, दोस्त सेवा संस्थान समेत कई अन्य अभिभावक संगठन से जुड़े सदस्य उपस्थित रहे।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट