#Kanpur विकास दुबे का मित्र बनकर फौजी को धमकाना पड़ा महँगा, एसएसपी ने मुकदमा दर्ज करवा कड़ी कार्यवाही के दिए निर्देश।



कानपुर,बिकरू गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर सीओ समेत आठ कर्मियों की हत्या के मामले में एसटीएफ ने एनकाउंटर में भले ही दुर्दांद अपराधी विकास दुबे को मार गिराया हो लेकिन अब उसका नाम लेकर धमकाने और डराने का सिलिसला अभी भी जारी है। अब गोविंदनगर के एक युवक ने फौजी और उसके परिवार को फोन करके खुद को विकास दुबे का मित्र बताकर धमकी दी है कि अपनी पत्नी को ले जाओ वरना अंजाम बुरा होगा। इससे पहले भी शहर और मेरठ में भी विकास के नाम पर धमकी दिए जाने के मामले सामने आ चुके हैं।


 


फौजी का पत्नी से चल रहा विवाद


 


दबौली निवासी एक फौजी की तैनाती नागालैंड में है। इन दिनों वह छुट्टी पर घर आए हैं। उनका पत्नी से कई सालों से विवाद चल रहा है। हाल ही में क्षेत्र के एक युवक ने फौजी को फोन कर कहा कि मैं विकास दुबे का मित्र हूं। मैनें कोर्ट में घुसकर एक अधिकारी की हत्या की थी। अपनी जान की सलामती चाहते हो तो पत्नी को साथ ले जाओ, वरना अच्छा नहीं होगा। फौजी के परिवार ने इसकी शिकायत गोविंदनगर थाने में की। सुनवाई न होने पर एसएसपी से शिकायत की। एसएसपी ने स्वाट टीम को जांच के निर्देश दिए थे जिसके बाद गोविंद नगर थाने में धमकाने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसएसपी डॉ प्रीतिंदर सिंह ने कहा की अपराधियों को महिमा मंडित करने वाले या उनके नाम का इस्तेमाल कर धमकाने वालो को बख्शा नही जाएगा।


 


पहले भी सामने आए धमकी के मामले


 


विकास दुबे का नाम लेकर धमकी देने के मामले पहले भी सामने आ चुके हैं। बीते दिनों एक इंस्टीट्यूट के केयरटेकर को धमकी देकर रंगदारी मांगने वाले ने विकास दुबे को अपना भाई बताया था। इसके बाद सक्रिय हुई जूही थाना पुलिस ने धमकी देने वाले बर्रा साउथ ईडब्ल्यूएस निवासी फैक्ट्री कर्मी दीपेंद्र उर्फ राम ठाकुर को गिरफ्तार किया तो उसने कहा था कि विकास दुबे फेमस था, इसलिए उसका नाम लेकर धमकी दी थी। थी। इसी तरह मेठर में भी विवाद के बाद एक पक्ष ने विकास दुबे का भाई बताकर दूसरे पक्ष को धमकी दी थी। पीड़ित ने एसपी क्राइम से शिकायत की थी, जिसपर जांच शुरू हुई थी।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट