कानपुर मुठभेड़ में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों को उ.प्र. उद्योग व्यापार ट्रस्ट ने दी श्रद्धांजलि


कानपुर। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार ट्रस्ट के पदाधिकारियों और बाबा जी के रसोई के प्रबंधक ने कानपुर में हुई मुठभेड़ के दौरान शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी तथा नवाबगंज गुरुद्वारा में दिवगंत पुलिसकर्मियों की आत्मा की शान्ति के लिए अंतिम अरदास का पाठ किया गया।



इस दौरान उत्तर प्रदेश व्यापार ट्रस्ट के महानगर अध्यक्ष जसबीर दिवान ने कहा कि इस समय अपराधी निरंकुश हो गए हैं। जिन्होंने पुलिसकर्मियों को मारने से पहले एक बार भी नहीं सोचा कि वह जनता के सच्चे हितैषीयों की निर्मम हत्या कर रहे हैं। कहा कि जो पुलिस चौबीसों घंटे जागकर हमारी व हमारे परिवारों की सुरक्षा करती है उस पर इस तरह से ताबड़तोड़ फायरिंग करना कितना बड़ा गुनाह है। उन्होंने कहा कि विकास दुबे को एक आतंकवादी घोषित कर देना चाहिए।



मान सिंह बग्गा ने कहा कि विकास दुबे एक शातिर अपराधी के रूप में जाना जाता है। और वह कई वर्षों से खुलेआम शहर में विचरण कर रहा था। तब सरकार को नहीं दिखाई दिया कि उसे गिरफ्तार कर ले। और जब उसने इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे दिया तो योगी सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए पुलिस की 100 टीमें गठित कर उसे गिरफ्तार शीघ्र करने का दावा प्रस्तुत कर रही है। मगर कई दिन बीत जाने के बाद भी अब तक पुलिस के हाथ आखिर खाली क्यों है।



व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने कहा की जब पुलिस टीम अपराधी विकास दुबे के यहां पर छापेमारी कार्रवाई करने गई थी तो उसे यह कैसे जानकारी मिली कि कितने लोग उसे गिरफ्तार करने के लिए आ रहे हैं। यह भी एक चिंता का विषय बना हुआ है। सभी ने एक सुर में घटना की कड़ी निंदा की है।



सभी उपस्थित लोगों ने भारत मां के 8 सिपाहियों की शहादत पर श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए कहा कि सरकार शीघ्र ही ऐसे अपराधियों को गिरफ्तार कर कड़ा दंड दे। श्रद्धांजलि देने वालों में जसवीर दीवान, इंस्पेक्टर कोहना प्रभुकान्त, इंस्पेक्टर रामा कांत पचौरी, इंस्पेक्टर अश्वनी पाण्डेय, सनी जयसवाल, असगर आलम,शरद त्रिपाठी,अशरफ सिद्दीकी आदि लोग मौजूद रहे।


Comments

Popular posts from this blog

कानपुर ज्योति हत्याकांड :- ज्योति के 6 हत्यारों को उम्रकैद की सजा, ज्योति के पिता बोले न्याय की जीत।

ज्योति हत्याकांड में आरोपियों को दोषी करार होने के बाद शंकर नागदेव बोले न्याय के प्रति नतमस्तक हूँ।

कान्यकुब्ज ब्राम्हण समाज का सामूहिक वैवाहिक समारोह एवं यज्ञोपवीत कार्यक्रम 27 फरवरी को।