गैगस्टर विकास दुबे की तलाश में फरीदाबाद के होटल में पुलिस की रेड


वायरल होटल के सीसीटीवी फुटेज स्क्रीन शॉट


कानपुर से निकल कर जाने वाले हर हाईवे, हर सड़क, हर टोल हर नाके को खंगाला जा चुका है. हर टोल की सीसीटीवी तस्वीरें दर्जनों बार देखी जा रही हैं. बंद पड़े होटलों और गेस्ट हाउसों तक की तलाशी ली जा रही है.


 


दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में विकास दुबे के छुपे होने का इनपुट मिला था. उसी के आधार पर फरीदाबाद पुलिस ने वहां रेड की. लेकिन वहां विकास दुबे नहीं मिला. मगर फरीदाबाद पुलिस ने विकास दुबे के नही मिला लेकिन 2 युवकों को उसके साथी होने के शक पर गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस को आशंका है कि वहां विकास दुबे भी मौजूद था. इस ख़बर के बाद यूपी एसटीएफ की एक टीम फरीदाबाद रवाना हो गई है।



कानपुर के मोस्ट वांटेड विकास दुबे की तलाश में पुलिस ने मंगलवार को फरीदाबाद के बड़खल चौक पर बने ओयो गेस्ट हाउस में छापेमारी की. पुलिस की टीम में करीब 30 से 35 जवान और अधिकारी सादा वर्दी में थे. गेस्ट हाउस पर छापे के दौरान पुलिस ने वहां से विकास दुबे के एक साथी को पकड़ा है, हालांकि पुलिस इस मामले में कुछ कहने को तैयार नहीं है।


 


फरीदाबाद में दिल्ली-मथुरा हाईवे के किनारे बड़खल चौक पर एक ओयो गेस्ट हाउस में पुलिस ने छापेमारी की. बताया जाता है कि पुलिस को सूचना मिली थी कि कानपुर कांड का मोस्ट वॉन्टेड विकास दुबे का 3 साथियों के साथ वहां छिपा है. पुलिस ने आनन-फानन में यह कार्रवाई अंजाम दे डाली. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 30 से 35 की संख्या में पुलिस के जवान सादी वर्दी में वहां पहुंचे थे. कुछ देर वहां ठहरने के बाद पुलिस दल वहां से निकल गया।


 


बता दें कि एक सौ बीस घंटे से ऊपर हो चुके हैं. यूपी पुलिस की 40 टीमें उसकी खाक छान रही हैं. कानपुर के आस-पास का पूरा इलाका छान मरा गया. यूपी एमपी बॉर्डर, यूपी नेपाल बॉर्डर तक पर यूपी पुलिस चौबीसों घंटे नजरें गड़ाए है. कानपुर से निकल कर जाने वाले हर हाईवे, हर सड़क, हर टोल हर नाके को खंगाला जा चुका है. हर टोल की सीसीटीवी तस्वीरें दर्जनों बार देखी जा रही हैं. बंद पड़े होटलों और गेस्ट हाउसों तक की तलाशी ली जा रही है.


 


उसके हर दूर-नजदीक के हर रिश्तेदार, दोस्त, जान-पहचान वालों के घर तक पुलिस हो आई है. मगर विकास दुबे का कोई सुराग नहीं मिल रहा. यूपी पुलिस के सूत्रों के मुताबिक फिलहाल तीन ही ऐसे ठिकाने हैं, जहां विकास दुबे के छुपे होने की सबसे ज्यादा उम्मीद है. पहला कानपुर के आसपास ही किसी जानने वाले के घर में. दूसरा नेपाल में और तीसरा मध्य प्रदेश में।


 


भले ही अधिकारी पुष्टि नहीं कर रहे मगर सूत्रों ने बताया है कि होटल में तीन से चार संदिग्ध लोग रुके थे। पुलिस की छापेमारी से पहले ही वे गेस्ट हाउस से निकल गए। ओल्ड फरीदाबाद थाना प्रभारी अर्जुन देव का कहना है कि शुरुआत में उन्हें गेस्ट हाउस में फायरिग की सूचना मिली थी, जिसके बाद टीम मौके पर पहुंची। इससे अधिक जानकारी देने से उन्होंने इंकार कर दिया।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट