देखिए गैंगस्टर का डांस आपका क्या होगा जनाब-ए-आली' गाने पर अमर की शादी में जमकर नाचा था विकास दुबे


विकास दुबे के एनकाउंटर क बाद उसका एक वीडियाे वायरल हो रहा है। इसमें वह अपने खास गुर्गे अमर दुबे की शादी में जमकर डांस करता हुआ दिख रहा है। ये वीडियो 12 दिन पहले का है। 'आप का क्या होगा जनाब-ए-आली' गाने पर विकास जमकर थिरका। इस शादी में विकास के गैँग के सभी सदस्य शामिल हुए थे। इस शादी के तीसरे दिन ही कानपुर में विकास और उसके साथियों ने मिलकर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। 



विकास ने ही करवाई थी अमर की शादी : 


 


29 जून को अमर दुबे की शादी थी। विकास दुबे ने ही रिश्ता तय कराया था लेकिन लड़की वालों ने अपराध के बारे में जानकारी होने पर शादी करने से मना कर दिया था। इसके बाद विकास ने लड़की को उसके परिवार के साथ अपने घर बुला लिया और यहीं शादी करा दी। दो दिन लड़की विकास के घर पर रही थी। उसके बाद परिवार के साथ बिदा कर दिया गया। शादी की सिर्फ रस्म अदायगी रही। परिवार के लोग ही शामिल हुए। कोई कार्ड नहीं बांटे गए, भव्य आयोजन नहीं हुआ। विकास के करीबी 20-25 लोगों को ही शादी की दावत दी गई थी। इस में विकास के डांस करने का वीडियो वायरल हुआ है।। शादी का पूरा खर्च विकास ने ही उठाया था।


 


विकास का भरोसेमंद शूटर था अमर


 


विकास के एनकाउंटर से पहले पुलिस ने अमर का एनकाउंटर हमीरपुर जिले में किया था। अमर विकास के शूटरों में सबसे भरोसेमंद माना जाता था। हमेशा राइफल लेकर विकास के साथ रहता था। शूटरों का इंतजाम की जिम्मेदारी भी उसी पर थी। विकास के साथ शहर की कई पार्टियों में भी देखा गया। कई मंत्रियों, विधायकों के साथ भी अमर देखा गया।


 


पत्नी सहित परिवार है जेल में : 


 


विकास दुबे का बॉडीगार्ड कहे जाने वाले उसके सबसे करीबी बदमाश अमर दूबे मां क्षमा को पुलिस ने सात जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था। आठ जुलाई को अमर के पिता संजय तथा रतनपुर पनकी निवासी नवविवाहित पत्नी खुशी को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक दोनों पर अपराधी को संरक्षण देने और साजिश का आरोप है।


 


मां आंगनबड़ी कार्यकत्री


अमर के पिता संजय खेती तो मां क्षमा उर्फ रेनू दुबे आंगनबाड़ी कार्यकत्री हैं। विकास भवन स्थित बाल विकास कार्यालय के मुताबिक बिकरू में तैनात क्षमा ने 28 से 30 जून तक छुट्टी ली थी। बताया था कि उनके बेटे की शादी है लेकिन किसी को बुलाया नहीं। एक जुलाई को उन्हें ड्यूटी पर लौटना था लेकिन वापस नहीं आई।


 


एसटीएफ का दावा, विकास के साथ हुआ था फरार


एसटीएफ सूत्रों का दावा है कि अमर विकास के साथ ही फरार हुआ और फरीदाबाद तक गया था। वहां पुलिस के साथ एसटीएफ ने छापा मारा तो दोनों भाग निकले। वहीं से टीम अमर के पीछे लग गई थी। भागते-भागते वह मंगलवार रात मौदहा तक आया और शरण पाने के लिए पैदल गांव तक पहुंचा था पर दूर के रिश्तेदारों ने उसे शरण देने से इनकार कर दिया। इसी बीच यहां से मध्य प्रदेश जाने की जुगत में था। उसकी सतना, दमोह, शहडोल में रिश्तेदारियां हें। टोह लेते हुए एसटीएफ पुलिस के साथ अमर तक जा पहुंची और ढेर कर दिया।


Comments

Popular posts from this blog

#Kanpur - ऑनलाइन सट्टा किंग "सोनू सरदार" को कानपुर पुलिस ने जयपुर से किया अरेस्ट

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

#Kanpur :-ट्यूशन टीचर से रेप का मामला- DIG के निर्देश के बाद,FIR दर्ज आरोपी अरेस्ट