मिलिए 'लेडी सिंघम' से, इनके सामने बड़े से बड़े क्रिमिनल की हो जाती है पतलून गीली

3 years Old Story



इन दिनों यूपी के कानपुर जिले में एक 'लेडी सिंघम' अपने तेवर और कार्रवाई के जुदा अंदाज से बड़ी ही तेजी से पॉपुलर हो रही है। कानपुर के बाहर भी इनकी चर्चा होने लगी है। बेहद कम समय में अपनी अलग पहचान बना चुकी इस लेडी सिंघम से आज हम आपको रूबरू करा रहे हैं...


हालांकि कानपुर शहर की कमान संभाले इन्हें ज्यादा वक्त नहीं हुआ है। प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद बहुत से पुलिस अफसरों के तबादले हुए जिनमें से एक ये लेडी सिंघम भी थी। 


ये शख्सियत है एसएसपी सोनिया सिंह। इस लेडी सिंघम की दहाड़ तो पूरा कानपुर सुन ही रहा है। अब बारी है आपकी...


सोनिया सिंह को लेडी सिंघम का नाम इसलिए भी मिला है क्योंकि इनका वर्क स्टाइल औरों से बिल्कुल अलग है। वे महिला होने के बावजूद रात 12 बजे के बाद भी बेखौफ होकर शहर में अकेले निकल पड़ती है। जहां कहीं उन्हें कुछ गलत होता दिखाई देता है समझो वहां एसएसपी कयामत बनकर टूट पड़ती हैं। 


कानपुर में सोनिया सिंह अब तक यूं तो वे कई ताबड़तोड़ कार्रवाई कर चुकी है लेकिन सबसे लेटेस्ट और चर्चित शुक्रवार रात की घटना है। एसएसपी सोनिया सिंह ने शुक्रवार रात बर्रा हाइवे पर स्थित चर्चित सिंह ढाबे पर छापा मारा।


इस ढाबे पर लबें समय से खुलेआम नशाखोरी चलती रही है। लेकिन एसएसपी सोनिया सिंह ने अपनी एक कार्रवाई में पूरे ढाबे की काया पलट कर रख दी। ढाबे के मालिक जो पहले पुलिस से सांठगांठ कर ये गोरखधंधा चलाते आए हैं अब वो भी सोनिया सिंह के सामने पानी भरते दिख रहे हैं। ढाबे के बाहर और भीतर खुलेआम शराब पी रहे नशेबाजों को हवालात में डाल दिया।   


एसएसपी ने फोर्स के साथ घेराबंदी कर मौके से 35 शराबियों को दबोचा है*। यहीं नहीं इस बाबात एसएसपी ने बर्रा एसओ प्रदीप सिंह को खूब खरी-खोटी सुनाई। ढाबा संचालक के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए। इसके बाद भी देर रात तक एसएसपी इलाके में भ्रमण करती रहीं। खास बात रही कि अभियान के दौरान साउथ सिटी के पुलिस अफसरों और थानेदारों को दूर रखा गया।


जाम छलकाने वालों के खिलाफ चलाया अभियान


एसएसपी ने साउथ सिटी में सड़कों और ढाबों- होटलों में जाम छलकाने वालों के खिलाफ अभियान चलाया। एसएसपी, एसपी पूर्वी अनुराग आर्या, एसपी पश्चिम गौरव ग्रोवर, चकेरी, हरबंश मोहाल और कलक्टरगंज समेत कई थानों की फोर्स के साथ सादे कपड़ों में निकलीं। सिंह ढाबे पर लोग खुलेआम शराब पीते मिले। वहां का दृश्य देख पुलिस अफसर चौंक गए।


 इसके बाद बर्रा एसओ, सीओ गोविंद नगर और एसपी साउथ को बुलाया गया। एसएसपी ने एसओ से कहा कि क्षेत्र में ये हाल है, तुम लोगों को कुछ पता नहीं है। सुधर जाओ, वरना ठीक नहीं होगा। यहां से पकड़े गए शराबियों को बर्रा पुलिस को सौंपने के बाद एसएसपी ने कई और शराब ठेकों और दुकानों पर छापेमारी की।


साउथ सिटी में कई मयखाने


साउथ सिटी में खुलेआम शराब पीने-पिलाने के कई ठिकाने हैं जो क्षेत्रीय थानों-चौकियों के संरक्षण में चलते हैं। साकेतनगर में पराग डेयरी के सामने ओपेन बार चलता है जहां बोतल नहीं, सिर्फ पैग दिए जाते हैं। वहीं पीने की शर्त रहती है।


 


यहां देर रात तक नशेबाजी होती रहती है। इसके अलावा नौबस्ता बाइपास पर सभी ढाबों पर पीने-पिलाने की छूट रहती है। दबौली मेन रोड देशी शराब ठेके के बाहर भी खुलेआम शराब पी जाती है। आस-पास सड़क घेर कर खड़े होने वाले ठेलों पर भी जाम टकराए जाते हैं। मछरिया, तात्याटोपे नगर, किदवईनगर में भी यही हालात हैं।


Comments

Popular posts from this blog

#Kanpur - ऑनलाइन सट्टा किंग "सोनू सरदार" को कानपुर पुलिस ने जयपुर से किया अरेस्ट

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

#Kanpur :-ट्यूशन टीचर से रेप का मामला- DIG के निर्देश के बाद,FIR दर्ज आरोपी अरेस्ट