कानपुर से टिड्डी दल रवाना रायपुर होते हुए कानपुर देहात सीमा में किया प्रवेश।



कानपुर के गँगा बैराज पहुँचा टिड्डी दल ने चौबेपुर की तरफ बढ़कर रायपुर गोपालपुर क्षेत्र होते हुए कानपुर देहात की सीमा में प्रवेश कर गया है। इससे पहले टिड्डी दल ने ख्योरा कटरी, प्रेमपुर कछार और चौबेपुर में फसलों को नष्ट करने की कोशिश की लेकिन मौके पर मौजूद कृषि अधिकारियों और किसानों ने तेज ध्वनि यंत्रो को बजाकर उन्हें भगाया।


सोमवार को करीब 1 किलोमीटर लंबे टिड्डियों के दल ने रात को गंगा बैराज के उस पार ट्रांस गंगा सिटी में डेरा डाला था। अंधेरा होने से शहर की तरफ आ रहा दल वहीं रुक गया था। जिनको भगाने के लिए उन्नाव जिले प्रशासन जोर-शोर से लगा था।


डीएम डॉ0 ब्रह्मदेव राम तिवारी ने बताया कि मंगलवार प्रातः गंगा बैराज की तरफ से कानपुर में टिड्डी दल का आगमन हुआ लेकिन टिड्डी दल के संभावित खतरे को देखते हुए पहले से अलर्ट जारी कर दिया गया था और पूरी तैयारियां कर ली गई थी। पुलिस प्रशासन और मुख्य रूप से कृषि विभाग के उपनिदेशक कृषि और उनकी टीम कृषि सुरक्षा अधिकारी के नेतृत्व में तकनीकी टीम, फायर ब्रिगेड की टीम सभी पहले से लगी हुई थी और लोगों ने पूरा इसमें पूरा सहयोग दिया सभी के समेकित प्रयास से यह टिड्डी दल अभी जनपद की सीमा के बाहर सुरक्षित रूप से खदेड़ दिया गया यह दल गंगा बैराज के बाद मंधना साइड से होते हुए चौबेपुर की तरफ कुछ गांव को टच करते हुए और रायपुर, गोपालपुर क्षेत्र से होते हुए वर्तमान में कानपुर देहात जनपद की सीमा में प्रवेश किया। हमारे अधिकारियों ने और लोगों ने एक टीम भावना के साथ मिलकर कार्य करते हुए सफलतापूर्वक उन्हें बाहर निकालने का कार्य किया है पूरी टीम को बहुत-बहुत शुभकामनाएं और बधाई।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट