आस्था की अर्थव्यवस्था: पनकी मंदिर का विवाद खत्म, अयोध्या के महंत नृत्य गोपाल दास ने दोनों पक्षों में कराया समझौता


कानपुर में पनकी स्थित श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर में चल रहा गद्दी का विवाद खत्म साथ ही मंदिर का संचालन अब श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर श्राइन बोर्ड ट्रस्ट के जरिये करने की बात कही गई है। रविवार को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने पंचमुखी हनुमान मंदिर पनकीं में दोनों पक्षों के बीच सुलह करवाकर आरोप प्रत्यारोप के दौर का पटाक्षेप कर दिया।



धर्म नगरी अयोध्या में मनीराम दास के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के सामने नव गठित पंचमुखी हनुमान मंदिर श्राइन बोर्ड के मैनेजिंग ट्रस्टी अमित नरायण त्रिवेदी,मीडिया प्रभारी पं राम जी त्रिपाठी और महंत जितेंद्रदास और महंत कृष्ण दास उपस्थित होकर सभी ने अपनी बात विस्तार से रखी साथ मे ट्रस्टी दिनेश बाजपेयी और संत अरुणपुरी भी मौजूद रहे। दोनों पक्षों को सुनने के बाद महंत नृत्य गोपाल दास के सामने सहमति बनी की दोनों महंत कृष्ण दास एवं जितेंद्रदास मंदिर की बराबर से सेवा करंगे और दानपात्र में आये चढ़ावे का आपस में बराबर के हिस्सेदार होंगे साथ ही सौगन्ध दिलाई गई कि अब मीडिया में कोई गलत बयानबाजी नही करेंगे। 


मंदिर का विकास कार्य देखेंगे ट्रस्टी


महंत नृत्य गोपाल दास ने मंदिर के विकास कार्यो की जिम्मेदारी मैनेजिंग ट्रस्टी अमित नारायण, रामजी त्रिपाठी और दिनेश बाजपेयी को सौपी है बैठक में अन्य ट्रस्टी भी मौजूद रहे।



इस तरह बना ट्रस्ट


बालक दास, सुरेश दास व कृष्ण दास के बीच गद्दी की लड़ाई चल रही थी। इसके चलते तीनों पक्ष खुद को ब्रह्मलीन बड़े महंत रमाकांत बाबा का उत्तराधिकारी बता रहे थे। जिलाधिकारी डॉ. ब्रह्मदेव राम तिवारी ने लॉकडाउन के बाद विवाद खत्म कराने की बात कही थी। इसके बाद छह जून को पनकी स्थित नारायणा संस्थान के सभागार में 11 लोगों की उपस्थिति में बैठक हुई। सुरेश दास व बालक दास भी मौजूद रहे। इसमें सभी ने ट्रस्ट बनाने पर सहमति दी थी।


Comments

Popular posts from this blog

#Kanpur - ऑनलाइन सट्टा किंग "सोनू सरदार" को कानपुर पुलिस ने जयपुर से किया अरेस्ट

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

#Kanpur :-ट्यूशन टीचर से रेप का मामला- DIG के निर्देश के बाद,FIR दर्ज आरोपी अरेस्ट