#कोरोना से जंग जीतने में कानपुर नम्बर-1 अब सिर्फ 31 एक्टिव केस


Kanpur-जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों की रफ्तार धीमी पड़ी है मंगलवार का दिन कोई भी नया केस नही मिला वही राहत की बात ये रही कि 8 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए अबतक कोरोना से जंग जितने वालों की संख्या 277 हो चुकी है। 8 मौतों के बाद शहर में कुल संक्रमितों का आकड़ा 316 है।


सीएमओ डॉ अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि जनपद में कंटेन्मेंट क्षेत्रों में 32 टीमों ने बशीरगंज, कर्नलगंज, नवाब साहब का हाता एवं चन्द्रहंसपुर के क्षेत्रों में 2047 घरों का भ्रमण किया तथा लोगों को कोविड-19 के लक्षणों तथा उसके बचाव के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान किया गया कोविड-19 में भर्ती 8 कोरोना पॉजिटिव रोगियों को स्वस्थ्य हो जाने पर करतल ध्वनि के साथ डिस्चार्ज किया गया तथा एक 17 दिन के बच्चे को मॉ के साथ आवश्यक निर्देश देकर एवं शपत्र पत्र के साथ होमकोरनटाइन में भेजा गया।


9 दिनों में पांच गुना उछला कोरोना रिकवरी रेट


कोरोना से जंग जीतने में यूपी में कानपुर नंबर एक पर है। सोमवार को रामा मेडिकल कॉलेज से 26 रोगियों के डिस्चार्ज होने के बाद रिकवरी रेट 85.13 फीसदी पर पहुंच गया है। रिकवरी रेट के मामले में अभी तक लखनऊ 66.03 फीसदी पर सबसे आगे था। 10 मई के बाद से कोरोना रिकवरी रेट में लगातार सुधार आ रहा है। अब तक 277 कोरोना संक्रमित रोगी रोगमुक्त हो चुके हैं। शहर में अब कोरोना के 31 एक्टिव केस बचे हैं। शहर में 316 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जिनमें आठ की मौत हुई है। अभी तक कोरोना संक्रमित ज्यादातर की रिपोर्ट पहले 14 दिन के बाद निगेटिव आ गई थी। आठ रोगी ऐसे हैं जिनकी पहली रिपीट रिपोर्ट पॉजिटिव आई, इसके बाद अगली रिपोर्ट निगेटिव हो गई। सीएचसी सरसौल में भर्ती शौकत अली पार्क के आठ साल के रोगी के अलावा कोई रोगी ऐसा नहीं रहा, जिसके संक्रमण लेवल ने पहली स्टेज पार की। आठ साल का रोगी भी अधिक वायरस लोड होने के बाद 14 दिन के बाद निगेटिव हो गया। रोग मुक्त हुए 277 रोगियों में किसी में भी कोरोना के खास लक्षण नहीं उभरे। एक भी रोगी को वेंटिलेटर की जरूरत नहीं पड़ी। आठ कोरोना संक्रमित रोगियों की मौत हुई है, वे पहले से किसी गंभीर रोग की गिरफ्त में थे। उनकी मौत का कारण भी वही रोग बना। सीएचसी सरसौल के प्रभारी डॉ. एसएल वर्मा और हैलट के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.प्रेम सिंह का कहना है कि इलाज की अच्छी रणनीति और रोगियों के इम्युनिटी सिस्टम की वजह से अच्छे नतीजे आए हैं।


Comments

Popular posts from this blog

कानपुर ज्योति हत्याकांड :- ज्योति के 6 हत्यारों को उम्रकैद की सजा, ज्योति के पिता बोले न्याय की जीत।

कानपुर : वायरल ऑडियो मामले में पुलिस को दी गयी तहरीर, निदेशक बोले संस्थान की छवि धूमिल करने की हो रही साजिश।

ज्योति हत्याकांड में आरोपियों को दोषी करार होने के बाद शंकर नागदेव बोले न्याय के प्रति नतमस्तक हूँ।