#Kanpur-मीरा गैस एजेंसी पर घटतौली के आरोप।

कानपुर इन दिनों जहाँ देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है वहीं कुछ रुपये के लोभी अपनी जेब भरने से बाज नही आ रहे है एक तरफ जहां शासन और समाज सेवक जनता की रसोई तक फ्री राशन मुहैय्या करा रहे है वहीं मीरा गैस एजेंसी गरीबो के घर की रसोई गैस चुरा कर अपनी जेब भरने का काम कर रही है


आपको बता दे कानपुर स्वरूप नगर स्थित मीरा गैस एजेंसी एक मानी जानी गैस एजेंसी है जो कई घनी आबादी वाले क्षेत्रों में रसोई गैस की पूर्ति करती है 
आपको बता दे मीरा गैस एजेंसी की पत्रकारों को लगातार शिकायते प्राप्त हो रही थी लेकिन साक्ष्य न होने के कारण कुछ कह पाना मुश्किल हो रहा था लेकिन कहते है न कि हर एक चीज का अंत जरूर होता है और वैसा ही हुआ और मीरा गैस एजेंसी की साक्ष्य के साथ चोरी पकड़ी गई 


आपको बता दे कानपुर चमनगंज घुसियान निवासी एक समाचार पत्र के संवाददाता मो० शमशेर ने अपने रसोई गैस की मीरा गैस एजेंसी में बुकिंग की थी जब मीरा गैस एजेंसी का हॉकर सुबूर उनके घर गैस सिलेंडर लेकर आया तो मो० शमशेर ने वीडियो रिकार्डिंग चालू कर के उसी हॉकर से सिलेंडर की तौल कराई तो सिलेंडर का वजन मात्र 27किलो 25ग्राम निकला जबकि भरे हुए गैस सिलेंडर का वजन 29किलो 500ग्राम होता है जिसके चलते हॉकर से जब इस बात की नाराज़गी जताते हुए पूछा गया कि तुम गैस कम क्यूँ देते हो तो उसने कहा मुझे कुछ नही पता गैस एजेंसी वाले जाने यह कहकर हॉकर सुबूर ने कहा कि अपना खाली सिलेंडर मुझे दो मैं आपको दूसरा सिलेंडर दे देता हूँ और वो वहां से खाली सिलेंडर लेकर बिना भरा सिलेंडर दिये ही वहाँ से रफूचक्कर हो गया


मीरा गैस एजेंसी के इस कृत से यह प्रतीत हो रहा है कि यह गैस चोरी का काम आज से नही वर्षो से चल रहा है
और मीरा गैस एजेंसी शायद समाज की दुश्मन है क्यूँकी जब इस महामारी में समाज के भले लोग दुसरो के घरों में राशन भेजकर उनके रसोई भरने का काम कर रहे है वहीं मीरा गैस एजेंसी इस महामारी के वक़्त लोगो की रसोई से चोरी कर रही है


आपको बता दे मीरा गैस एजेंसी द्वारा रसोई गैस चोरी के सम्बंध में स्थानीय थाना पर शिकायत दर्ज कराई दी गई है और साथ ही साथ कई सक्षम अधिकारियों को भी सूचित किया जा चुका है।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट