लॉक डाउन के दौरान कवरेज कर लौट रहे पत्रकार से अभद्रता, कानपुर जर्नलिस्ट क्लब ने की कार्यवाही की मांग। 

कानपुर :-उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ द्वारा पत्रकारों से अच्छे से वर्ताव करने को लेकर बराबर मुहिम चला रहे है लेकिन कुछ पुलिस कर्मी इसका उलघंन कर उनके आदेशो की धज्जियां उड़ा रहे है।
ताजा मामला कानपुर के नजीराबाद थाना क्षेत्र का है जहाँ मंगलवार देर शाम SHO नजीराबाद मनोज कुमार रघुवंशी ने कवरेज कर अपने घर लौट रहे  एक निजी चैनल के पत्रकार अमित सिंह को सरेराह रोककर अभद्रता की और विरोध करने पर जबरन गाड़ी का चलान काट दिया और धमकाया  फर्जी मुकदमा लगा कर जेल भेज देगें।


वही पत्रकार के साथ अभद्रता की जानकारी मिलते पत्रकार जगत में आक्रोश फैल गया, पत्रकारों ने अपने माइक आईडी और कैमरे जमीन में रखकर विरोध जताया।


घटना की जानकारी मिलते ही कानपुर जर्नलिस्ट क्लब ने घटना की निंदा करते हुए कानपुर के एडीजी जोन, आईजी रेंज, एसएसपी और डीएम से तत्काल दबंग इंस्पेक्टर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की तथा पूरे मामले को सीएम को ट्वीट कर भी जानकारी दी गई।


 वही इसी मामले जर्नलिस्ट क्लब के महामंत्री अभय त्रिपाठी ने कहा की कठिन परिस्थितियों में कोरोना जैसी महामारी के बीच, ईमानदारी से अपना कर्त्तव्य निर्वहन कर रहे सम्मानित पत्रकार से दबंग इंस्पेक्टर द्वारा सरेराह अभद्रता करना, खुन्नस में गाड़ी का चालान कर देना बहुत ही निदनीय कार्य है। जर्नलिस्ट क्लब कड़ी निंदा करता है और पुलिस के आलाधिकारियों से तत्काल SHO  नजीराबाद के खिलाफ कार्यवाही की मांग करता है।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट