कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में- वेदिका सिंघानिया भी आगे आई, गरीबों की बनी मददगार...


कानपुर :-पूरी दुनिया में कोरोना महामारी की मार से आज पूरा देश जूझ रहा है । संकट की इस घड़ी में जहाँ लोग अपनी साम्र्थयानुसार गरीबों, असहायों, निराश्रितों के मध्य भोजन, फल, राशन आदि का सामान वितरित कर रहे है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 21 दिन के लॉक डाउन  के दौरान  कोई भी जरूरतमंद और गरीब भूखा न रहे, इसलिए देश की बड़ी रईस "सिंघानिया फैमिली" ने भी अपना खजाना खोल दिया और प्रतिदिन शहर हजारों लोगों का पेट भरने में जुटे है मौजूदा समय जब कोरोना पूरे विश्व को चपेट में ले रखा लोगों ने इस महामारी के ख़ौफ़ के कारण अपने अपने घरों में कैद कर लिया है। लोग अपने रिश्तेदारों से तक बात नही कर रहे। उस दौर में सिंघानिया परिवार के लोग लोगों के मसीहा बनकर दिन रात मदद कर रहे है और इसमें उनके बच्चे भी पीछे नहीं शनिवार कैंट के लाल कुर्ती इलाके में वेदिका सिंघानिया ने स्वयं अपने हाथों से सैकड़ो गरीबों लंच पैकट वितरण किया। बता दे कि वेदिका कुछ ही समय पहले स्वीडन से पढ़ कर स्वदेश वापस आई है गौर करने वाली बात यह है कि वेदिका विदेश में रहकर भी देश सेवा और मिट्टी की महक को नही भूल पाई है।



जेके ग्रुप अभिषेक सिंघानिया की पुत्री वेदिका का कहना है वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कोरोनावायरस से देश के लोगों को बचाने के लिये किये जा रहे काम से प्रभावित हैं, लिहाजा वो भी इस महान काम मे अपना भी योगदान दे रही है। कोरोना वायरस के इस वैश्विक संकट के दौर में इस महामारी से लड़ने के लिए उन्होंने सभी देशवासियों से इस संकट की घड़ी में एकजुट रहने और प्रधानमंत्री एवं स्वास्थ्य विभाग की अपील को मानने का निवेदन भी किया। उन्होंने कहा, "मैं सभी देशवासियों से हाथ जोड़कर निवेदन करना चाहती हूं कि वे प्रधानमंत्री जी कीअपील को मानते हुए अपने अपने घरों में रहकर इस महामारी के खिलाफ जंग मेंअपना सहयोग दें।


Comments

Popular posts from this blog

कानपुर ज्योति हत्याकांड :- ज्योति के 6 हत्यारों को उम्रकैद की सजा, ज्योति के पिता बोले न्याय की जीत।

कानपुर : पुलिस ने फरार आरोपी के फ्लैट पर कराई मुनादी, आरोपी के फ्लैट पर डुगडुगी बजाकर नोटिस किया चस्पा..

कानपुर : वायरल ऑडियो मामले में पुलिस को दी गयी तहरीर, निदेशक बोले संस्थान की छवि धूमिल करने की हो रही साजिश।