कानपुर IG मोहित अग्रवाल का ऐलान- छिपे जमातियों की सूचना दो, पाओ 10 हजार का इनाम


कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने ऐलान किया है कि छिपे हुए जमातियों की जो भी सूचना देगा, उसको दस हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा, इसके साथ ही उसका नाम भी गुप्त रखा जाएगा.


 
कानपुर रेंज में छिपे जमातियों को ढूंढने की पहले सूचना देने पर मिलेगा 10-10 हजार का इनाम
उत्तर प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और इसके पीछे तबलीगी जमात को वजह बताया जा रहा है. कानपुर में छिपे जमातियों की खोज के लिए पुलिस ने एक और नया ऑपरेशन शुरू किया है. कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने ऐलान किया है कि छिपे जमातियों की सूचना देने वाले को 10 हजार रुपये का इनाम मिलेगा.


दरअसल, कानपूर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. इनमें अधिकतर संख्या जमातियों के संपर्क में आए लोगों की है. पुलिस को लगता है की दिल्ली से आए जमाती अभी भी कहीं न कहीं चुपचाप छिपे हैं. पुलिस का कहना है कि जमाती अभी भी सामने नहीं आ रहे हैं. वे कहीं न कहीं छिपे हुए हैं. तलाश की जा रही है.


ऐसे में कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने ऐलान किया है कि छिपे हुए जमातियों की जो भी सूचना देगा, उसको दस हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा, इसके साथ ही उसका नाम भी गुप्त रखा जाएगा. आईजी ने यह घोषणा अपने क्षेत्र के सभी 6 जिलों (कानपुर, कानपुर देहात, कन्नौज, औरैया, इटावा और फर्रुखाबाद) में की है.


आईजी ने मोहित अग्रवाल ने कहा कि जमातियों की सूचना देने वालों का नाम, पता गोपनीय रखा जाएगा. पुलिस कंट्रोल रूम के नंबर 112, 100, संबंधित थाने या एसपी दफ्तर के अलावा कोरेना हेल्पलाइन नंबर पर भी जमातियों के बारे में जानकारी दी जा सकती है. इसके अलावा पुलिस अधिकारियों के सीयूजी मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप मैसेज के जरिये सूचना दी जा सकती है.


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट