फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के संचालकों को नोटिस दे करोड़ों के घोटाले की परतें खंगालेगी ईडी

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कानपुर की मल्टीनेशनल कमोडिटी कंपनी फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के संचालको को गारंटर व अन्य आरोपियों को जल्द नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए तलब करेगी। ईडी आरोपियों के बैंक खातों व बेनामी संपत्तियों का ब्यौरा भी जुटा रही है। 


बैंकों के 3592.48 करोड़ रुपये हड़पने के मामले में ईडी बोगस निवेश की कड़ियाँ खाँगालेगी। ध्यान रहे, ईडी ने फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के संचालक उदय जयन्त देसाई, उनके बेटे सुजय उदय देसाई व सुनील लालचंद्र वर्मा शामे अन्य आरोपियों के खिलाफ मनी लांड्रिंग के तहत केस दर्ज किया है। 


CBI ने जनवरी माह में फ्रॉस्ट इंटरनेशनल के संचालकों के खिलाफ केस दर्ज कर कानपुर व मुंबई समेत 13 ठिकानो में छापेमारी की थी। फ्रॉस्ट इंटरनेशनल कंपनी का ऑफिस मुंबई के बांद्रा कुर्ला complex के पते पर रजिस्टर्ड है। कंपनी पर बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, इलाहाबाद बैंक, indian overseas bank, बैंक ऑफ़ बड़ौदा, यूको बैंक, सेन्ट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया, व कैनरा बैंक समेत कुल 14 बैंकों से फर्जी दस्तावेजो के सहारे करोडों का लोन लिया था। बैंक ऑफ इंडिया कानपुर के ज़ोनल मैंनेजर प्रशान्त कुमार सिंह की शिकायत पर सीबीआई ने मामले की जाँच शुरू की थी।



  • CBI के केस दर्ज करने के बाद ईडी ने भी मामले में कसा था अपना शिकंजा।
    सूत्रों का कहना कि अगले सप्ताह ईडी नोटिस जारी कर कार्यवाही के कदम बढ़ाएगी। कई बैंक खातों का ब्यौरा ईडी के निशाने पर होगा बैक से मिले करोड़ों रुपयों का निवेश कहा किया गया इसकी परते खंगाली जाएगी।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट