फर्रूखाबाद में मुठभेड़ में ढेर हुए अपहरणकर्ता सुभाष की मासूम बेटी को IG मोहित अग्रवाल लिया गोद।


*▶आईजी बोले मासूम बच्ची को पढ़ा-लिखाकर बनाएँगे आईपीएस अफसर।*
-------------------------------------------


कानपुर :-फर्रूखाबाद में गुरुवार को बेटी की बर्थडे पार्टी के नाम पर 23 बच्चों को अपने घर बुलाकर तहखाने में 12 घंटों तक बंधक बनाकर रखने वाले अपहरणकर्ता सुभाष को पुलिस ने मार गिराया था। जिसके बाद सभी बच्चों को सुरक्षित निकाला गया था।
ग्रामीणों ने सुभाष की पत्नी रूबी को भी पीटा था जिससे उसकी अस्पताल में मौत हो गई थी। ऐसे में सुभाष और रूबी की मौत के बाद 1 साल की बेटी गौरी को कानपुर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने गोद लिया है। अब उसकी देखभाल की जिम्मेदारी आईजी खुद उठाएंगे।


*आईजी बोले मासूम बच्ची को पढ़ा-लिखाकर बनाएँगे आईपीएस अफसर।*


यूपीटीवी लाइव से हुई बातचीत में आईजी मोहित अग्रवाल बताया की सुभाष और रूबी के मृत्यु के बाद 1 साल की गौरी बिल्कुल अकेली हो गई थी घटना के दो दिन बीतने के बावजूद उसका कोई भी रिश्तेदार उसे लेने नही आया, बीते दो दिनों से महिला कांस्टेबल उसे संभाल रही है। इसलिए मासूम गौरी की देखरेख और उसके पालन-पोषण की जिम्मेदारी हमने और हमारे विभाग ने ली है और उसे अच्छी शिक्षा-दीक्षा दिलाकर उसे आईपीएस अफसर बनाएंगे।


*ये था पूरा मामला*


फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव करथिया में पुत्री के जन्मदिन के बहाने शातिर सुभाष ने 25 बच्चों को गुरुवार को घर में बंधक बना लिया था। पुलिस ने नौ घंटे की कड़ी मशक्कत कर सुभाष को रात एक बजे मार गिराया और बच्चों को 11 घंटे बाद मुक्त करा लिया। पुलिस ने सुभाष की पुत्री को कब्जे में लिया तो गांव के लोगों ने उसकी पत्नी रूबी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। सैफई ले जाते समय उसने भी दम तोड़ दिया।


Comments

Popular posts from this blog

कानपुर पुलिस ने दो कुख्यात शूटरों को मुठभेड़ में गोली मारकर किया गिरफ्तार।

Make In India: योगी सरकार के मंत्रियों ने लॉन्च किया, यूपी का पहला Redmil माइक्रो एटीएम।

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..