कानपुर में महिला अपराधों में पुलिस का शर्मनाक चेहरा आया सामने।


▶4 महीने से गायब लड़की की नहीं लिखी एफआईआर, एयरहोस्टेज बहन से बोला थानेदार बहन ढूढने के लिए आप पुलिस में भर्ती हो जाओ यह कहकर थाने से भगाया, बोला शादी क्यों नहीं की थी लड़की की।


▶माँ-बाप रोते हुए पहुंची एडीजी के दरबार ,थानेदार की रिकार्डिंग सौपी एडीजी ने चौबीस घंटे में एसपी से मांगी पूरी रिपोर्ट ,जबकि पुलिस को एक अपराधी के घर से मिला था सिम।


कानपुर :-यूपी में लड़कियों बच्चियो और महिलाओ के अपराधों की गूंज से पूरे देश की राजनीति  और मीडिया में हड़कंप मचा है लेकिन कानपुर की पुलिस पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है यहाँ की पुलिस इतनी बेशर्म है की उसने चार महीने लापता एक लड़की की एफआईआर तक नहीं लिखी लड़की के परिजन थाने की चौखट पर हर दिन गुहार लगाते रहे लेकिन थानेदार उलटा लड़की की बहन को यह कहकर धमकाता रहा की बहन को ढूंढना  आप पुलिस में भर्ती हो जाओ तब पता चले हमारे पास कितने साधन है इतना ही नहीं उसने लड़की की बहन को यह कहकर थाने से भगा दिया की अब आप जाइये यहाँ से मै कुछ नहीं बताऊंगा  लड़की माँ ने आज रोते हुए थानेदार की बदतमीजी की पूरी कहानी जब एडीजी कानपुर जोन को सुनाई तो वे खुद हैरान रह गए एडीजी को माँ थानेदार की धमकी वाली रिकार्डिंग भी एडीजी को सौप दी एडीजी  चौबीस घंटे में एसपी से पूरी रिपोर्ट मांगी है।


ये कानपुर पुलिस का शर्मनाक चेहरा है जिसमे एक बेटी की माँ और बहन से थानेदार उनकी बेटी को चार महीने से ढूंढना तो दूर बल्कि उनकी एफआईआर भी नहीं लिखता है जबकि लड़की का  सिम एक अपराधी के यहाँ से पुलिस ही बरामद करती है उसके परिजनों को थाने लाकर छोड़ भी देती है  अब भले एडीजी ने इस पर एक्शन ले लिया है 


यूपी में महिला हिंसा पर कानपुर पुलिस कितनी गंभीर है ये बताने के लिए आज एडीजी आफिस में  रोती हुई बैठी सपना बाधवानी को देखना ही काफी था इनकी पैतीस वर्षीय बेटी निधि वासवानी 6 अगस्त  को चकेरी  थाना क्षेत्र से गायब  है  निधि का सिम पुलिस को एक अपराधी इरशाद के घर से बरामद हो चुका है लेकिन चकेरी पुलिस का खेल देखिये की चार महीने बाद भी उसने निधि की एफआईआर नहीं दर्ज सिर्फ गुमशुदी ही लिखकर घरवालों को टरका रही है  और सबसे शर्मनाक बात ये है की निधि की छोटी बहन  आँचल जो एक एयर लाइंस में अधिकारी है उसने जब थानेदार से बहन की काल  रिकार्डिंग निकलवाने की मांग की तो थानेदार रणजीत राय आँचल को धमकी देने लगा तुम बहस करती ही खुद पुलिस में भर्ती हो जाओ  अब थाने से चली जाओ मै कुछ नहीं बताऊंगा,आँचल ने थानेदार की यह बातचीत रिकार्ड भी कर ली  निधि की माँ का यह भी आरोप है की थाने की पुलिस उनसे  मजाक करती है की बेटी की शादी क्यों नहीं की /जबकि निधि का सिम एक इरशाद नाम के लड़के के यहां मिल चुका है।


गायब युवती की माँ सपना  बाधवानी ने बताया कि मेरी बेटी चार महीने से गायब है चकेरी पुलिस के पास जाते है तो वह कुछ नहीं करते कहते है शादी क्यों नहीं की अब तक उसकी जबकि उसका सिम इरसाद नाम के  लड़के के घर पर मिला था लेकिन अभी तक पुलिस कुछ नहीं कर रही है  उलटा थाने  जाते है तो कहते है पुलिस में भर्ती हो जाओ।


बहन आँचल बाधवानी ने बताया कि मेरी बहन चार महीने से मिसिंग है थानेदार से जब बात करते है तो कहते है हमारे पास हजारो मिसिंग केस है आप लोगो का ही काम नहीं है आप पुलिस में भर्ती    हो जाओ तो पता चले हमारे पास कितने साधन है 


गायब युवती निधि के पिता भगवान दास बाधवानी बिल्डिंग मेटेरियल का काम करते है देश में लड़कियों के साथ हो रही घटनाओ को देखकर परिजनों को लगता है की निधि की ह्त्या हो चुकी है  वे चार महीनो से थानेदार   सीओ और एसएसपी  के चक्कर लगा लगा के  थक गए लेकिन किसी ने सुनवाई नहीं की आज  सामाजिक नेता अनिता दुआ के साथ जाकर निधि की माँ सपना ने  जब  रो रोकर कानपूर जोन के एडीजी प्रेम प्रकाश को पूरी घटना बताई तो खुद एडीजी भी यह जानकार हैरान रह गए की चार महीने से गायब निधी  की अभीतक  थाने में एफआईआर तक नहीं लिखी गई  उलटा थानेदार गलत बात करता है उन्होंने  फोन पर ही  एसपी को आदेश देकर लड़की के अपहरण की  तुरंत एफआईआर लिखने का आदेश देकर चौबीस घंटे में पूरी रिपोर्ट मांगी है उन्होंने  थानेदार की रिकार्डिंग और बदतमीजी  की जांच के आदेश भी दिए है एडीजी का कहना है लड़की की चार महीने तक एफआईर न होना गलत है उसके अपहरण की एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है थानेदार की  बदतमीजी की जांच भी एसपी सिटी को सौपी है रात दस बजे तक पूरी रिपोर्ट मांगी गई लड़की का सिम एक अपराधी इरशाद के पास से बरामद हो चुका है उसकी गिरफ्तारी जल्दी की जायेगी जांच के बाद पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही जायेगी एडीजी ने इस मामले में एसएसपी और आईजी से भी रिपोर्ट मांगी है वैसे शायद ये मामला शांत ही पड़ा रहता अगर निधि के घरवाले सामाजिक संस्था लक्ष्य की अध्यक्ष अनिता दुआ से आज न मिले होते वही आज इनको लेकर एडीजी  के यहाँ पहुंची थी।


*वही इसी मामले में ADG प्रेम प्रकाश ने बताया की ये लड़की चार महीने पहले मिसिंग हुई थी इसकी गमशुदी दर्ज हुई थी इसमें तुरंत अपहरण की एफआईआर के आदेश दिए गए है  थानेदार ने जो थाने में बदतमीजी  किया उन सबकी जांच रिपोर्ट एसपी सिटी से मांगी गई है लड़की का सिम एक अपराधी इरशाद के पास से बरामद हो चुका है उसकी जल्दी गिरफ्तारी की जायेगी, इसमें लड़की को खोजने के लिए पुलिस के साथ स्वाट टीम भी लगाईं गई है  थानेदार की बातचीत की इन्होने सीडी दी है  इसकी जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी।*


ये शायद वह हकीकत है जो यूपी के थानों में आज भी पीड़ित महिलाओ को पुलिस से अपनी शिकायत लिखाते समय भोगनी पड़ती है यानी अब यही निष्कर्ष निकलता है की जबतक पुलिस का रवैया नहीं बदलेगा या गलत बर्ताव करने वाले पुलिस कर्मीयो  पर जबतक कड़ी कार्यवाही  नहीं होगी  पीड़ित महिलाओ को पूरा न्याय नहीं मिल पायेगा  तो अब सवाल यह है की क्या कानून का पाठ सबसे पहले पुलिस को ही सिखाना पडेगा तभी महिला हिंसा पर रोक लग पाएगी।


Comments

Popular posts from this blog

#Kanpur - ऑनलाइन सट्टा किंग "सोनू सरदार" को कानपुर पुलिस ने जयपुर से किया अरेस्ट

Kanpur News-"आपदा को अवसर" में बदलने वाले कानपुर के दो युवा बने मिसाल, 70 हज़ार लोगों को 6 माह में दिया रोजगार..

#Kanpur :-ट्यूशन टीचर से रेप का मामला- DIG के निर्देश के बाद,FIR दर्ज आरोपी अरेस्ट