केस्को एमडी के पास 'डेंजर टी शर्ट' पहन कर पहुँचे MLA

कभी पत्नी के गहने तो कभी नाव भेंट करने वाले विधायक इस बार केस्को एमडी के सामने बने डेंजर।...*


कानपुर, अपने अनोखे अंदाज के लिए चर्चित हो चुके आर्यनगर विधायक ने शनिवार फिर कुछ अलग करके प्रशासन को जगाने का प्रयास किया। इस बार वह वेशभूषा से 'डेंजर' बनकर केस्को एमडी के पास शिकायत करने पहुंचे। उन्होंने शहर की बिजली समस्याओं से अवगत कराते हुए ज्ञापन सौंपा और समाधान की मांग रखी।
आर्यनगर विधायक अमिताभ बाजपेई जनता की समस्या अफसरों तक पहुंचाने के लिए कोई न कोई अनोखा रास्ता अपनाते हैं। कभी जलनिगम के अफसर को पत्नी के गहने देने पहुंच जाते तो हैं तो कभी शहर में जलभराव की समस्या पर नगर आयुक्त को नाव भेंट करते हैं। इन दिनों गर्मी अधिक पड़ रही और शहर वासियों को बिजली रुला रही है। इतना ही नहीं शहर में जगह-जगह टूटे और जर्जर पोल तथा लटकते ढीले विद्युत तार खतरा बन गए हैं, जिनसे कभी भी कोई हादसा हो सकता है। अक्सर आपने देखा होगा कि बिजली के खंभों, ट्रांसफार्मर और मेन लाइन पर 'डेंजर या चेतावनी' का साइन बोर्ड लगा रहता है। विधायक ने भी इसी डेंजर के साइन को अपनाया और केस्को एमडी के पास पहुंच गए।


काली टीशर्ट पर अंकित डेंजर का साइन बिजली विभाग को अगाह करने वाला लग रहा था। 'डेंजर' बनकर पहुंचे विधायक ने केस्को एमडी के समक्ष बिजली समस्याएं रखीं। इसके साथ ही ज्ञापन सौंपकर समाधान कराने की मांग उठाई। उन्होंने कहा कि पानी के पाइप लाइन के ऊपर रखे विद्युत तारों से लाखों परिवारों की जान का खतरा है। यदि समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो किसी न किसी दिन घरों में लगी टोंटी से पानी की बजाए करंट के रूप में मौत आएगी। उनके साथ नीरज सिंह, पार्षद अभिषेक गुप्ता, पूर्व पार्षद मो. सारिया, हरीओम पांडे आदि मौजूद रहे।


ये रखी समस्या


अंडरग्राउंड केबिल डालने में लापरवाही बरती जा रही है। पानी की लाइन के साथ विद्युत लाइन डाले जाने से खतरा बढ़ गया है।
टेढ़े व टूटे खंभे हर जगह मौजूद हैं, विशेष अभियान चलाकर इन्हें बदला जाए।
विद्युत तारों पर लटकती पेड़ों की डाल काटने का काम ठीक से नहीं हुआ है, जिससे समस्या बनी है।
ट्रांसफार्मर के आसपास जाली लगाने के बाद केस्को ने मलबा नहीं हटाया है। इसके आसपास से मलबा और कूड़ा हटवाया जाए।
जहां ट्रांसफार्मर लगे हैं वहां रोशनी की व्यवस्था की जाए ताकि रात के अंधेरे में कोई हादसा न हो।
केस्को द्वारा अंडरग्राउंड केबल के कार्य में रोड कटिंग के नगर निगम के से भौतिक सत्यापन की सूचना दी जाए।
नये कनेक्शन देने में पारदर्शिता बरती जाए और सब स्टेशनों में दलालों पर अंकुश लगाया जाए। हाउसिंग व मल्टी स्टोरी मकानों के मामले की पारदर्शी नीति बनायी जाए।
रेड टीम द्वारा उपभोक्ताओं का उत्पीडऩ बंद हो। कटिया पकडऩे पर आसपास के नाम ले जाकर उनपर रिपोर्ट दर्ज करा देती है। पुन: जांच/अपील की व्यवस्था न होने से रेड टीम की जांच रिपोर्ट चोर साबित करने के लिए काफी है, इसका हल निकाला जाए।


Comments

Popular posts from this blog

रूस कोविड-19 टीका: दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन 12 अगस्‍त को होगी पंजीकृत

Covid19 Treatment: दाद-खाज-खुजली और हाथी पांव की दवा से मर जाता है कोरोना वायरस, खर्च 25 से 30 रुपए

यूपी- 13 आईपीएस अफसरों समेत आठ जिलों के देर रात बदले कप्तान, देखें लिस्ट